10 में से 9 फैन्स नहीं जानते होंगे धोनी और सुरेश रैना के बीच के ये 6 अद्भुत संजोग

 


सुरेश रैना और एमएस धोनी ने स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त 2020) पर पूरे देश को झटका दिया जब 2011 के विश्व कप विजेता टीम के पूर्व सदस्यों ने एक साथ रिटायरमेंट की घोषणा की.

हालांकि, दोनों खिलाड़ी आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते रहेंगे. दोनों क्रिकेटर मैदान पर काफी करीब थे. आज इस लेख में हम रैना-धोनी के करियर के 6 यादगार संजोग जानेगे.

1) दोनों डेब्यू मैच में जीरो पर आउट

एमएस धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ दिसंबर 2004 में अपना वनडे डेब्यू किया और पहले ही मैच में बिना कोई रन बनाए आउट हुए. अगले साल सुरेश रैना ने श्रीलंका के खिलाफ अपनी पहली वनडे कैप हासिल की और पहली ही गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए.

2) दोनों ने आखिरी मैच इंग्लैंड में खेला

एमएस धोनी ने आईसीसी विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल के दौरान न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच इंग्लैंड में खेला था. संयोग से, सुरेश रैना ने अपना आखिरी मैच 2018 में मेजबान टीम के खिलाफ इंग्लैंड में खेला था.

3) दोनों ने अपना पहला टेस्ट श्रीलंका और आखिरी टेस्ट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला

सुरेश रैना ने श्रीलंका के खिलाफ 2010 में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और शतक बनाया. एमएस धोनी ने भी अपना टेस्ट डेब्यू आइलैंडर्स के खिलाफ किया था और दोनों खिलाड़ियों ने 2015 की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी मैच खेला था.

4) दोनों ने बतौर कप्तान अपना आखिरी टी20I वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला

एमएस धोनी और सुरेश रैना के पास T20Is में भारत का नेतृत्व करने का मौका मिला. दोनों करियर के बीच एक और संयोग यह था कि दोनों ने आखिरी बार वेस्टइंडीज के खिलाफ भारतीय टीम का नेतृत्व किया था. एमएस धोनी ने आईसीसी टी20 विश्व कप 2016 में किया था, जबकि रैना ने आखिरी बार 2011 में टीम का नेतृत्व किया था.

5) दोनों ने आरसीबी के खिलाफ जीता हैं 3 बार मैन ऑफ द मैच

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल में कट्टर प्रतिद्वंद्वी रहे हैं. एमएस धोनी और सुरेश रैना ने आरसीबी के खिलाफ हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है और उन्होंने बेंगलुरू की फ्रैंचाइज़ी के खिलाफ तीन मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीते हैं.

6) दोनों ने एक साथ की संन्यास की घोषणा

सुरेश रैना और एमएस धोनी के करियर के बीच अंतिम और सबसे दिल दहला देने वाला संयोग है कि उन्होंने 15 अगस्त 2020 को एक साथ अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट संन्यास की घोषणा की.

close