कोई जेब में रखता है रुमाल तो कोई करता है किस, जानिए 5 दिग्गज क्रिकेट के अंधविश्वास

 


अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेटर अपने व्यवहार से अलग ही धारणा स्थापित करते हैं। हालांकि ज्यादातर क्रिकेटर अंधविश्वासी होते हैं। जिनमें से कई तो मैदान पर अपने अंधविश्वास पर भरोसा करते हैं, जो उन्हें अपने खेल में सकारात्मक परिणाम देती है। कुछ खिलाड़ी इसे अपनी आदत मानते हैं, जो धीरे-धीरे अंधविश्वास बन जाती है। इस खास लेख में हम आपको ऐसे पांच दिग्गज क्रिकेटरों के बारे में बता रहे हैं, जो अंधविश्वासी भी रहेः

स्टीव वॉ – जेब में लाल रुमाल रखते थे

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज कप्तान स्टीव वॉ ने अपने करियर में कई ऊंचाईयों को हासिल को किया। लेकिन वह भी अंधविश्वास में भरोसा रखते थे और उसे अपने करियर में फॉलो भी किया। इस पूर्व क्रिकेटर ने अपने पूरे करियर में मैदान पर हमेशा अपनी जेब में लाल रुमाल रखा। जिसे उनकी दादी ने उन्हें दिया था, उन्हें इस रुमाल के साथ भरोसा रहता था।

राहुल द्रविड़ – दायां थाई पैड पहले पहनते थे

भारतीय क्रिकेट में द वॉल के नाम से मशहूर रहे राहुल द्रविड़ ने अपने करियर में एक खास अंधविश्वास बनाए रखा। द्रविड़ ने तीन अलग-अलग दशकों में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व किया था। वह जब भी बल्लेबाजी के लिए जाते थे, तो सबसे पहले दाएं थाई का पैड पहनते थे। उसके बाद वह बाकी किट पहनते थे।

सचिन तेंदुलकर – बायां पैड पहले पहनते थे

भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर भी मैदान में बल्लेबाजी करने जाने से पहले बाएं पैर का पैड पहनते थे। उसके बाद वह बाकी बल्लेबाजी किट पहनते थे। जो द्रविड़ के अंधविश्वास से बिल्कुल अलग था।

अनिल कुंबले – सचिन तेंदुलकर को स्वेटर या कैप देते थे

पूर्व भारतीय लेग स्पिनर अनिल कुंबले बहुत ही प्रैक्टिकल इंसान थे और उनका अंधविश्वास में ज्यादा भरोसा नहीं था। लेकिन सन् 1999 में दिल्ली टेस्ट मैच में जब उन्होंने 10 विकेट हॉल एक पारी में लिए थे, तब वह जब भी गेंदबाजी करने आते तो अपना स्वेटर व कैप सचिन तेंदुलकर को देते थे। कुंबले ने तबतक ऐसा किया जबतक आखिरी विकेट अपने नाम नहीं कर लिया।

लसिथ मलिंगा – गेंद फेंकने से पहले हर गेंद करते हैं किस

श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा जब अपने गेंदबाजी रन-अप से दौड़ना शुरु करते हैं, तब एक बार वह गेंद को किस करते हैं। ऐसा करते हुए उन्हें हर किसी ने टीवी पर देखा होगा। मलिंगा ने अपनी इस एक्ट पर एक बार कहा था कि वह भाग्य को अपने पक्ष में करने के लिए ऐसा करते हैं।

close