9 मौके जब IPL टीम प्लेइंग XI में चुने 4 से कम विदेशी खिलाड़ी

 


आईपीएल नियम कि अनुसार ज्यादा से ज्यादा 4 विदेशी खिलाड़ी टीम में खेल सकते हैं. इसका मतलब है कि एक टीम भारतीय खिलाड़ियों से भरी हो सकती है, लेकिन यह विपरीत नहीं हो सकती है. ऐसी टीमें हैं, जो इस सीमा का सबसे अधिक उपयोग करती हैं, जबकि कुछ अधिक भारतीय खिलाड़ियों को मौका देती हैं.

आईपीएल मैच में ऐसा भी कई बार देखने को मिला हैं, जब फ्रैंचाइज़ी ने 4 से कम विदेशियों को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया हैं. ऐसे की 9 मैचों के बारे में हम जानेगे.

1) राजस्थान रॉयल्स- 3 विदेशी खिलाड़ी (2008)

शेन वॉर्न की कप्तानी में राजस्थान रॉयल्स ने आईपीएल का उद्घाटन सीजन जीता था. ये बेहद कम दिखने वाली घटना आरआर और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच खेले गए मैच में हुई. मैच में 3 विदेशी खिलाड़ी शेन वॉटसन, डेरेन लेहमन और खुद कप्तान शेन वॉर्न थे. राजस्थान बड़ा स्कोर नहीं बना सका और अपने 20 ओवरों में केवल 129/8 रन ही बना सका. दिल्ली ने आसानी से ये मैच 9 विकेट से जीत लिया था.

2) राजस्थान रॉयल्स- 3 विदेशी खिलाड़ी (2008)

राजस्थान रॉयल्स ने फिर से सूची में जगह बनाई. राजस्थान रॉयल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ दूसरी बार ये कारनामा किया था. हालाँकि इस बार उन्होंबे उन्होंने नए संयोजनों को आजमाने का फैसला किया. शेन वॉटसन ने टीम की कप्तानी की, जबकि वार्न प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं हुए. अन्य दो विदेशी खिलाड़ी यूनिस खान और कामरान अकमल थे. इससे पहले आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के खेलने पर प्रतिबंध था.

3) मुंबई इंडियंस- 3 विदेशी खिलाड़ी (2010)

आईपीएल की शुरुआत से ही मुंबई इंडियंस का पलड़ा भारी रहा है. उन्होंने आईपीएल के 2010 सत्र में 3 विदेशी खिलाड़ी खिलाड़ियों को मौका दिया. यह राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच में था. एमआई ने सनथ जयसूर्या, रयान मैकलारेन और लसिथ मलिंगा को अपने 3 विदेशी खिलाड़ियों के रूप में खिलाया था.

मुंबई ने मेहमान टीम के लिए 213 रनों का विशाल लक्ष्य रखा. युसुफ पठान ने 37 गेंद में शतक जड़कर MI के गेंदबाजों के पसीने छुड़ा दिए. हालांकि, आरआर लक्ष्य से 5 रन कम रह गया और मैच हार गया.

4) कोलकाता नाईट राइडर्स- 2 विदेशी खिलाड़ी (2011)

कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम आईपीएल 2011 का उद्घाटन मैच चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेल रही थी. इस दौरान केकेआर ने सभी विशेषज्ञों को झटका दिया जब उन्होंने केवल दो विदेशी खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन में चुने. दो विदेशी खिलाड़ी जैक्स कैलिस और इयोन मॉर्गन थे, सीएसके ने पहले बल्लेबाजी की और अपने 20 ओवरों में 153/4 रन बनाए. कोलकाता की टीम जीत से चूक गई और वे 151/7 स्कोर बनाने में सक्षम रहे.

5) कोलकाता नाईट राइडर्स- 3 विदेशी खिलाड़ी (2011)

यह मौका अगले मैच में आया. केकेआर ने रयान टेन डसथाटे को टीम में शामिल किया. इस प्रकार डसथाटे के जुड़ने से विदेशी खिलाड़ियों की संख्या में इजाफा हुआ. इस मैच केकेआर कोलकाता में डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ खेल रही थी और पहले बल्लेबाजी की. उन्होंने कैलिस की 45 गेंदों पर 53 रन की बदौलत 163/4 रन बनाए.

केकेआर ने इस बार मैच जीता, क्योंकि डेक्कन चार्जर्स ने जीत के 9 रन कम बनाए. कैलिस को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

6) मुंबई इंडियंस- 3 विदेशी खिलाड़ी (2012)

मुंबई इंडियंस ने आईपीएल के 2012 सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 3 विदेशी खिलाड़ियों को मौका दिया था. तीन खिलाड़ी थिसारा परेरा, जेम्स फ्रैंकलिन और किरोन पोलार्ड थे. हालांकि, खराब गेंदबाजी के कारण वे मैच हार गए. मुंबई ने फ्रेंकलिन की 51 गेंदों की 79 रनों की बदौलत 163/6 का कुल स्कोर खड़ा किया. लेकिन पंजाब ने शॉन मार्श के 40 गेंदों में 68* रनों की महत्वपूर्ण पारी की मदद से मैच जीता और मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीता.

7) किंग्स इलेवन पंजाब- 3 विदेशी खिलाड़ी (2016)

किंग्स इलेवन पंजाब कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ खेल रही थी जब उन्होंने केवल 3 विदेशी खिलाड़ियों को खिलाने का फैसला लिया. तीन विदेशी खिलाड़ी डेविड मिलर, ग्लेन मैक्सवेल और मार्कस स्टोइनिस थे. पहले बल्लेबाजी करते हुए केकेआर ने पहली पारी में 164 रन बनाए. पंजाब लक्ष्य तक पहुंचने में नाकाम रहा, और वे 7 रन से मैच हार गए.

8) रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर- 3 विदेशी खिलाड़ी (2021)

RCB ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ अपने मैच में केवल 3 विदेशी खिलाड़ियों को चुना. मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए, आरसीबी ने केकेआर के गेंदबाजों की धज्जियाँ उड़ा डाली और पहली पारी में 204 रन बनाए. ग्लेन मैक्सवेल, एबी डिविलियर्स और काइल जैमिसन गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी करते हुए कोलकाता फ्रेंचाइज को ध्वस्त करने के लिए पर्याप्त थे. केकेआर ने 20 ओवर में 166/8 रन बनाये और आरसीबी ने 38 रनों मैच जीत लिया.

9) मुंबई इंडियंस- 3 विदेशी खिलाड़ी (2021)

मुंबई इंडियंस इस बार फिर से इस सूची में शामिल हैं. दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ टीम ने प्लेइंग इलेवन में केवल 3 विदेशी खिलाड़ी चुने. इन विदेशी खिलाड़ियों में क्विंटन डी कॉक, किरोन पोलार्ड और ट्रेंट बोल्ट शामिल हैं.

close