अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 900 से ज्यादा विकेट लेने वाले 6 गेंदबाज, लिस्ट में 1 भारतीय

 


जब गेंदबाज आउट ऑफ फॉर्म जाते हैं, तो उनके लिए रूट पर वापस आना मुश्किल होता है. गेंदबाजों के पास टारगेट करने के लिए सिर्फ दस विकेट हैं, और अगर वे योगदान करने में विफल रहते हैं, तो प्रदर्शन बेकार हो जाता हैं. बेशक, टी20 में और एकदिवसीय मैचों में एक हद तक, इकॉनोमी दर की अहमियत होती हैं, लेकिन विकेटों की संख्या सबसे अधिक महत्वपूर्ण हैं. इसलिए, यदि आप सभी प्रारूपों में लगातार विकेट ले सकते हैं, तो इसका मतलब है कि आप एक अच्छे गेंदबाज हैं. आज इस लेख में हम अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट के 6 दिग्गज गेंदबाजों के बारे में जानेगे, जिन्होंने 900+ से अधिक खिलाड़ियों को आउट किया हैं.

6) जेम्स एंडरसन- 901* विकेट

इंग्लिश पेसर ने हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 900 विकेट हासिल किए हैं. दाए हाथ के गेंदबाज इस सूची में अकेले सक्रिय क्रिकेटर हैं और आने वाले वर्षों में जेम्स एंडरसन निश्चित रूप से 1000 अंतरराष्ट्रीय विकेट लेने लक्ष्य सेट कर चुके होंगे.

एंडरसन के अधिकांश विकेट टेस्ट प्रारूप में आए हैं. एक पेसर जिसे टेस्ट पारी के सभी चरणों में खतरा माना जाता है, एंडरसन ने पांच दिवसीय प्रारूप में 614 विकेट हासिल किए हैं. दिलचस्प बात यह है कि उनके पास एकदिवसीय संस्करण में 269 विकेट भी हैं, एक एशिया प्रारूप जिसे उन्होंने पिछले कुछ वर्षों से खेलना बंद कर दिया है. एंडरसन के नाम पर 18 T20I विकेट भी हैं.

5) वसीम अकरम- 916 विकेट

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज वसीम अकरम अपने दायरे के सबसे महान तेज गेंदबाज थे. इसलिए, यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि उनका नाम इस सूची में है. अब भी, वह एक आदर्श बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के लिए याद किये जाते हैं.

एकदिवसीय क्रिकेट में अकरम को उनके अधिकांश विकेट मिले. वह अब तक एकमात्र ऐसे तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने 50 ओवर के प्रारूप में 500 से अधिक विकेट लिए हैं, पाकिस्तान के दिग्गज के नाम 414 टेस्ट विकेट भी दर्ज हैं.

4) ग्लेन मैकग्राथ- 949 विकेट

जब हम शुद्ध स्विंग-बॉलिंग के बारे में बात करते हैं, तो बहुत कम लोग कौशल के मामले में ग्लेन मैकग्राथ के करीब आते हैं. टॉप आर्डर बल्लेबाजों के लिए ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज एक बुरा सपना था.

मैकग्राथ के खाते में 900 से अधिक अंतरराष्ट्रीय विकेट भी हैं. जबकि उन्होंने उनमें से 563 टेस्ट मैचों में हासिल किए हैं जबकि 381 और 5 विकेट क्रमशः वनडे और टी20 प्रारूप में आए हैं.

3) अनिल कुंबले- 956 विकेट

अनिल कुंबले भारतीय क्रिकेट इतिहास के अकेले गेंदबाज हैं, जिसने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में 900 से अधिक विकेट झटके हैं. जंबो के अधिकांश विकेट टेस्ट क्रिकेट फॉर्मेट में आये हैं.

अनिल का वनडे में भी एक अच्छा रिकॉर्ड है. 271 मैचों में पूर्व भारतीय हेड कोच ने 30.89 की औसत से 337 विकेट लिए हैं.

2) शेन वॉर्न- 1001 विकेट

ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वॉर्न के नाम 1001 अंतरराष्ट्रीय विकेट हैं. एक खिलाड़ी जिसने ज्यादातर पेसर के अनुकूल ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर ये कारनामा किया है, इसलिए यह उपलब्धि स्पेशल है.

अन्य क्रिकेटरों की तुलना में, वार्न का करियर कम वर्षों तक चला. उन्होंने 15 साल तक अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट खेला, वह ऑस्ट्रेलिया के लिए 464 पारियों का हिस्सा रहे. अपने करियर के दौरान ये खिलाड़ी जादुई स्पिन गेंदबाजी के आलावा कई अन्य विवादों के कारण भी चर्चा में रहे.

1) मुथैया मुरलीधरन- 1347 विकेट

श्रीलंकाई स्पिन-जादूगर इस सूची में सबसे ऊपर है. मुरलीधरन एकदिवसीय और पांच दिवसीय प्रारूप में अब तक के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं और इसलिए इस सूची में नंबर 1 स्थान पर हैं.

19 वर्ष के लंबे करियर में इस दिग्गज क्रिकेटर ने कुल 583 पारियों में 1347 विकेट लिए हैं. इनमें से आठ सौ विकेट खेल के सबसे लंबे प्रारूप में आए. मुरलीधरन के नाम 13 T20I विकेट भी हैं.

close