तौकते तूफान का MP में दिख रहा असर


भोपाल। मध्य प्रदेश में तौकते तूफान का असर लगातार जारी हैं. रविवार को तूफान के कारण अधिकतर जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग ने सोमवार यानी आज भी तूफान के चलते तेज हवा, गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना जताई हैं. कृषि जानकारों का कहना है कि अगर तूफान की वजह से बारिश होती हैं, तो फसलों को भारी नुकसान होगा.

अगले दो दिन भी होगी बारिश

मौसम वैज्ञानिक पीके शाह के मुताबिक, वर्तमान में तीव्र चक्रवाती तूफान अरब सागर में मुंबई और गोवा के बीच में सक्रिय हैं. साथ ही इस तूफान से पश्चिमी मध्य प्रदेश तक कोंकण-गोवा और मध्य महाराष्ट्र होते हुए एक ट्रफ लाइन बनी हुई हैं. इस वजह से बड़े पैमाने पर नमी आने का सिलसिला बना हुआ हैं. इसी कारण पूरे प्रदेश में बारिश होने के आसार बने हुए हैं. शाह ने बताया कि सोमवार को भी तूफान के कारण तेज हवाओं के साथ गरज-चमक और बारिश हो सकती हैं. इसके चलते तापमान में मामूली गिरावट आई है. यह स्थिति अगले दो दिनों तक रहने का अनुमान हैं.

यहां हुई बारिश

प्रदेश में पिछले 24 घंटें में कई हिस्सों में बारिश दर्ज की गई. इनमें छिंदवाड़ा, होशंगाबाद, बैतूल, सीधी, जबलपुर, सागर, दमोह, रायसेन, गुना, उज्जैन, रतलाम, भोपाल, खंडवा, धार, टीकमगढ़, उमरिया, नरसिंहपुर, सिवनी, इंदौर और शाजापुर शामिल हैं.

फसलों के साथ बेल वाली सब्जियां होंगी खराब

कृषि के जानकार डॉ. जीएस कौशल का मानना है कि इन दिनों तौकते तूफान का असर मध्य प्रदेश में देखा जा रहा हैं. इससे सबसे ज्यादा नुकसान गेहूं को होना हैं, क्योंकि प्रदेश में बड़े पैमाने पर गेहूं का संग्रहण किया जा रहा हैं. कई जगहों पर इसे खुले आसमान के नीचे रखा गया हैं. राज्य सरकार को 31 मई तक गेहूं की खरीदी करनी हैं.

डॉ. कौशल के मुताबिक, मूंग की फसल को भी काफी नुकसान हो सकता हैं. बेल वाली सब्जियां जैसे कद्दू, लौकी और करेला की फसल भी खराब हो सकती हैं.


close