वो 3 पहलवान जो टोक्यो ओलंपिक 2020 में बजरंग पुनिया को चुनौती दे सकते हैं?

 


भारतीय प्रशंसकों के लिए कुश्ती कोई नया शब्द या नया खेल नहीं है। वर्षों से, आजादी से पहले भी, कुश्ती भारतीय खेल संस्कृति का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। ओलंपिक खेलों के संदर्भ में कुश्ती की बात करें तो भारतीय पहलवानों ने 2008 के बीजिंग ओलंपिक के बाद से लगातार खेलों की इस स्पर्धा में पदक जीते है और अब टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों में भारतीय पहलवान Bajrang Punia, जो 65 किलोग्राम फ्रीस्टाइल स्पर्धा में भाग लेंगे, पदक के दावेदारों में से एक हैं।

हालांकि, उनके ओलंपिक पदक प्राप्त करने के लक्ष्य के बीच कुछ पहलवान खड़े हैं, जिनके बारे में हम इस लेख में जानेंगे।

आइए नज़र डालते हैं उन नामों पर –

Gadzhimurad Rashidov (ROC)

जो लोग Gadzhimurad Rashidov के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं, उन्हें हम बता दें की Gadzhimurad मौजूदा विश्व चैंपियन (2019) और कुश्ती में दो बार के यूरोपीय चैंपियन (2016, 2018) भी हैं।

2019 में, रूसी पहलवान ने 65 किग्रा भार वर्ग में स्विच किया और तब से वह कुश्ती की दुनिया में सुर्खियां बटोर रहे हैं। पिछले पांच टूर्नामेंटों में जिसमें उन्होंने भाग लिया था, उनमें से Gadzhimurad ने चार में स्वर्ण पदक जीते हैं।

साथ ही, सितंबर 2019 में विश्व खिताब जीतने के बाद से, उन्होंने चीन में विश्व सैन्य खेलों में खिताब जीता और उसी वर्ष उन्हें दिसंबर में ही राष्ट्रीय चैंपियन का ताज पहनाया गया।

ये सभी उपलब्धियां उन्हें ओलंपिक खेलों में भी स्वर्ण पदक जीतने के प्रबल दावेदारों में से एक बनाती हैं।

Takuto Otoguro (जापान)

इसके बाद, हम जापान के पहलवान Takuto Otoguro के बारे में बात करेंगे, जो इस बार घरेलू ओलंपिक में खेलेंगे, और वह Bajrang के खेलों में स्वर्ण पदक विजेता बनने की उम्मीदों के लिए एक गंभीर खतरा भी साबित होंगे।

शुरुआत के लिए बता दें, यह जापानी पहलवान 2018 का विश्व चैंपियन हैं और इसे दो मौकों – 2020 और 2021 पर एशियाई चैंपियन का ताज भी पहनाया गया है।

लेकिन महत्वपूर्ण बात यह है कि Bajrang Punia, Takuto Otoguro के खिलाफ तीन बार खेलें हैं, और तीनो बार उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा है।

Bajrang पहले 2018 विश्व चैंपियनशिप फाइनल में इस जापानी पहलवान से हारे और फिर पिछले साल एशियाई मीट के फाइनल में भी हार का सामना करना पड़ा। इसके अलावा Takuto के खिलाफ भारतीय पहलवान ने अप्रैल में हुई एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता के फाइनल में चोट के कारण नाम वापस ले लिया था।

Haji Aliyev (अजरबैजान)

Bajrang को चुनौती देने वाले एक और पहलवान अजरबैजान के Haji Aliyev हैं।

अज़रबैजान विश्व स्तरीय पहलवानों और मुक्केबाजों के उत्पादन के लिए भी प्रसिद्ध है।

तीन मौकों (2014, 2015 और 2017) में विश्व चैंपियन रह चुके Haji ने पांच साल पहले रियो खेलों में 57 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक भी जीता था। अब नए भार वर्ग में (65 किलोग्राम) और बहुत अनुभव के साथ, वह Bajrang को चुनौती देने और इस बार स्वर्ण पदक जीतने के लिए सबसे पसंदीदा बने रहेंगे।

अब अगर हम उनके फॉर्म की बात करें तो दो बार के इस यूरोपीय चैंपियन के नाम ईरान में 2019 में हुए क्लब वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल है और पिछले साल मार्च में, वह इंडिविजुअल विश्व कप में कांस्य पदक विजेता भी रह चुके है। इसके अलावा, हंगरी में यूरोपीय ओलंपिक क्वालीफायर में Haji ने रजत पदक अपने नाम किया था।

close