मन मोह लेगी , दुनिया की पांच ,सबसे खूबसूरत, जगहें

 


दुनिया जितनी बड़ी उतनी ही खूबसूरत भी और इस दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जिन्हें घूमना-फिरना बहुत पसंद होता है। कई लोग इतने ‘पागल’ होते हैं कि वो अलग अलग जगह घूमने के लिए अपनी नौकरी छोड़ देते हैं या अपना घर तक बेच देते हैं। ऐसे कई मामले देखने को मिल चुके हैं। अगर आप भी घूमने के शौकीन हैं तो दुनिया में खूबसूरत जगहों की कोई कमी नहीं है। लोग लाखों रुपये खर्च करके इन जगहों को देखने और यहां समय बिताने के लिए दुनियाभर से यहां आते हैं।

भारत में भी ऐसी कई खूबसूरत जगहें हैं। तो इस कोरोना काल के बाद जब भी आपको समय मिले, बेझिझक जिंदगी में एक बार इन जगहों की सैर जरूर करने जाएं, क्योंकि यहां की हरियाली और खूबसूरती यकीनन आपका मन मोह लेगी। आइए जानते हैं दुनिया की पांच सबसे खूबसूरत जगहों के बारे में, जहा जाने का मन मन बार करेगा ।

नॉर्दन लाइट्स, आइसलैंड
आइसलैंड अपनी खूबसूरती के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। यहां के रंगीन पर्वत और खूबसूरत नदियां लोगों को दिवाना बना देती हैं। लेकिन यहां सबसे खास है नॉर्दन लाइट्स। इसकी खूबसूरती को अपने कैमरे में कैद करने के लिए दुनियाभर से फोटोग्राफर्स यहां आते हैं। 

बोरा बोरा आइलैंड 
इसे दुनिया के सबसे रोमांटिक डेस्टिनेशन में से एक माना जाता है। यहां के व्हाइट बीच, एक्वा लैगून और लग्जरी होटल इतना सुन्दर है की मन करता है की बस देखते रहे यह पॉलिनेशिया में एक खूबसूरत आइलैंड है, जो लैगून और बैरियर रीफ से घिरा हुआ है। यहां हर साल बड़ी संख्या में सैलानी घूमने और छुट्टियां मनाने के लिए आते हैं। 

टी गार्डन हिल ऑफ मुन्नार, केरल
केरल को तो वैसे ही खूबसूरत राज्य कहा जाता है और यहां का मुन्नार का टी गार्डन देखने लायक जगह है। समुद्र तट से लगभग 7000 फीट की ऊंचाई पर स्थित इस जगह पर चारों तरफ बस हरियाली ही हरियाली दिखती है। यकीनन यहां के प्राकृतिक खूबसूरत नजारे आपका मन मोह लेंगे।

नियाग्रा फॉल्स, अमेरिका 
इस वॉटरफॉल की खूबसूरती देखकर हर कोई हैरान रह जाता है। 167 फीट की ऊंचाई से बहने वाला यह वॉटरफॉल सर्दियों में जम जाता है, जो इसकी खूबसूरती में चार चांद लगा देता है। यही खूबसूरती देखने के लिए हर साल यहां हजारों सैलानी आते हैं। 

बागान के मंदिर, म्यांमार
म्यांमार का प्राचीन शहर बागान दुनिया की प्रसिद्ध जगहों में से एक है। यहां सैकड़ों मंदिर हैं, जिनकी खूबसूरती देखने के लिए दुनियाभर से लोग आते हैं। कहा जाता है कि इन मंदिरों का निर्माण सन् 1105 में हुआ है। बौद्ध लोगों के लिए यह महत्वपूर्ण जगहों में से एक है।
close