जहरीली शराब से छपरा में 39 मौत : नीतीश कुमार बोले – जो पियेगा वो तो मरेगा ही

बिहार के छपरा में जहरीली शराब से मरने वाले लोगो की तादाद बढ़ती ही जा रही है। गुरुवार को यह आंकड़ा 39 पहुँच चुका है। इस बीच बुधवार को राज्य विधानसभा में तिलमिलाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज एक और अजीबोगरीब बयान दे दिया है। उन्होंने सीधे कह दिया कि जो शराब पियेगा वो तो मरेगा ही। नीतीश कुमार के बयान से बिहार में शराब पर सियासत और भी गरमाने के आसार हैं।

जो पियेगा वो मरेगा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि जहरीली शराब से तो शुरू से लोग मरते हैं, जहरीली शराब से अन्य राज्यों में भी लोग मरते हैं। लोगों को सचेत रहना चाहिए क्योंकि जब शराब बंदी है तो खराब शराब मिलेगी ही। जो शराब पियेगा वो मरेगा ही। इस पर पूरी तरह से एक्शन होगा।

गरीबो को न पकडे

नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी से कई लोगों को फायदा हुआ है। बड़ी संख्या में लोगों ने शराब छोड़ दी है…यह अच्छी बात है। कई लोगों ने इसे सहर्ष स्वीकार किया है। लेकिन कुछ समस्या बना रहे हैं। मैंने अधिकारियों से कहा है कि वास्तविक गड़बड़ी करने वालों की पहचान करें और उन्हें पकड़ें।नीतीश कुमार ने कहा कि मैंने अधिकारियों से कहा है कि वे गरीबों को न पकड़ें। शराब बनाने और शराब का धंधा करने वाले लोगों को पकड़ा जाए। लोगों को अपना काम शुरू करने के लिए 1 लाख रुपये देने को तैयार हैं। जरूरत पड़ने पर हम राशि जुटाएंगे, लेकिन कोई भी इस धंधे में शामिल नहीं होना चाहिए।

लोगो को समझाने की जरुरत

सीएम नीतीश ने आगे कहा कि जब यहां शराबबंदी नहीं थी तब भी अन्य राज्यों में भी जहरीली शराब से लोगों की मौत होती थी। लोगों को सतर्क रहना चाहिए। चूंकि यहां शराबबंदी है तो कुछ न कुछ नकली बिकेगा जिससे लोगों की मौत हो जाएगी। शराब खराब है और इसका सेवन नहीं करना चाहिए।| पिछली बार जब जहरीली शराब से लोगों की मौत हुई थी तो किसी ने कहा था कि उन्हें मुआवजा दिया जाना चाहिए. यदि कोई शराब पीता है, तो वह मर जाएगा – उदाहरण हमारे सामने है। इसके लिए शोक व्यक्त किया जाना चाहिए, उन जगहों का दौरा किया जाना चाहिए और लोगों को समझाया जाना चाहिए।

close